राजस्थान में देश के 5.6 प्रतिशत भिखारी हैं और इन भिखारियों में से 86 ग्रेजुएट और 13 पोस्ट ग्रेजुएट भी हैं। पांच भिखारी ऐसे भी है, जिनके पास टेक्निकल डिप्लोमा भी है। देश में लगभग 79 हजार साक्षर हैं। यह भी पढ़े : देस का कोई 56 इंच का सीना उद्योगपतियों ने ली हुई लोन का पैसा नहीं भरपाई करवा सकता 2001 की जनगणना में पोस्ट ग्रेजुएट और इसी के समकक्ष तकनीकी डिग्री वाले भिखारियों की संख्या 419 थी। गुजरात में ऐसे भिखारियों की संख्या 11 है और राजधानी दिल्ली में आठ। गुजरात में 12,584 भिखारी है और पंजाब में सिर्फ 7,224 भिखारी हैं। 2011 की जनगणना रिपोर्ट में ”कोई रोजगार ना करने वाले और उनके शैक्षिक स्तर” का आंकड़ा हाल ही में जारी किया गया है. इसके अनुसार देश में कुल 3.72 लाख भिखारी हैं, इनमें से बहुत सारे पढ़े लिखे हैं. 3.72 लाख भिखारियों में से 21 फीसदी ऐसे हैं जो 12वीं तक पढ़े लिखे हैं. यही नहीं इनमें से 3000 ऐसे हैं जिनके पास किसी प्रोफेशनल कोर्स का डिप्लोमा है और बहुत सारे ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट हैं. मोदी #मेजिक आनंदी बेन की बेटी को 125 करोड़ रुपये की जमीन सिर्फ डेढ़ करोड़ में द...

अहमदाबाद पीएम मोदी का गुजरात अहमदाबाद एयरपोर्ट सोने की तस्करी करने वालों के लिए पसंदीदा एंट्री पॉइंट बन चुका है। तस्करों ने इस एयरपोर्ट का रुख तब किया जब केंद्र की मोदी सरकार ने सोने के आयात पर कस्टम्स ड्यूटी बढ़ाकर 10 प्रतिशत कर दी। 2012 और 2013 में तस्करी के 10 मामले 2014 और 2015 में बढ़कर 88 तक पहुंच गए। मतलब, दो सालों में तस्करी के मामले में आठ गुना इजाफा। 2012 में अधिकारियों ने यहां 5.38 करोड़ कीमत का 15.7 किलो सोना जब्त किया था जबकि 2014-15 में यही आंकड़ा बढ़कर 104.38 किलो पहुंच गया। 2014-15 में जब्त सोने की कीमत 28.59 करोड़ रुपये आंकी गई। जून 2013 में गोल्ड इंपोर्ट्स पर प्रतिबंध लागू हुआ था, लेकिन हैरत की बात है कि अगले दो सालों में तस्करी के मामलों में बेतहाशा वृद्धि हुई। पकड़े गए ज्यादातर स्मगलर दुबई, शारजाह और अबू धाबी जैसे मिडल ईस्ट के अलग-अलग जगहों के थे। एक कस्टम्स ऑफिसर ने बताया, ‘भारत और मिडल ईस्ट में सोने की कीमत में 1.5 लाख से 2 लाख रुपये का अंतर होने की वजह से यहां तस्करी ज्यादा होती है।’ उन्होंने कहा, ‘दिल्ली, मुंबई और चेन्नै जैसे मेट्रोज के एयरपोर्...

नई दिल्ली: यूपी में हुए विधानसभा चुनावों के रुझान आ चुके हैं. रुझानों के मुताबिक, बीजेपी ने 300 के पार का आंकड़ा पार कर लिया है. एसपी-कांग्रेस और बसपा काफी पीछे छूट गए हैं. कहना गलत न होगा कि यूपी में पीएम मोदी की लहर ने एक बार फिर सपा-कांग्रेस और बसपा को धराशायी कर दिया. हालांकि नतीजे थोड़ी देर में आने शुरू होंगे. देश के पांच राज्यों में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा चर्चा यूपी विधानसभा की ही रही. यूपी में सात चरणों में चुनाव कराया गया था. पहले चरण में 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर 1 फरवरी को वोट डाले गए थे. पहले चरण में शामली, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, बागपत जैसे जिले शामिल थे. दूसरे चरण में 11 जिलों की 67 सीटों के लिए 15 फरवरी को वोट डाले गए थे. तीसरे चरण में 69 सीटों पर 19 फरवरी को चुनाव कराया गया था. चौथे चरण में 53 सीटों पर 23 फरवरी को वोटिंग हुई. पांचवें चरण में 52 सीटों के लिए 27 फरवरी को तथा छठे चरण में 49 सीटों पर 4 मार्च को चुनाव संपन्न हुआ. सातवें चरण में 40 सीटों पर 8 मार्च को वोट डाले गए...

नई दिल्‍ली। अब रेलवे के जरिये आप हवाई सफर का भी मजा ले सकते हैं। देश में हेलीकॉप्‍टर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रेलवे और पवनहंस हेलीकॉप्‍टर्स ने हाथ मिलाया है। इसके तहत पवनहंस की हेलीकॉप्टर सेवाओं के लिए टिकट IRCTC की वेबसाइट से खरीदा जा सकेगा।   रेलवे के अधीन आने वाली आईआरसीटीसी ने नागर विमानन मंत्रालय की सार्वजनिक कंपनी पवनहंस के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। आईआरसीटीसी के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक एके मनोचा ने बताया कि पवनहंस के साथ इस समझौते से देश में हेली टूरिज्म को बढ़ावा देते हुए हमारी पर्यटन पहलों को बल मिलेगा।

...

   

नई दिल्ली (15 फरवरी): रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। अब टिकट एजेंट और रिजर्वेशन क्लर्क के साथ कन्फर्म टिकट के लिए झिक-झिक नहीं करनी पड़ेगी। आप अपने ही लैपटॉप या कम्पयूटर पर आस-पास के ऐसे स्टेशन ढूंढ लेंगे जहां से कन्फर्म टिकट मिल सकता है। जी हां, आईआईटी खड़गपुर और एनआईटी के दो छात्रों ने एक ऐसा मोबाइल एप्स तैयार किया है जो कंफर्म रेल टिकट की आपकी समस्या दूर करेगा। यानी ये एप्स आपका टिकट एजेंट बन जाएगा।

अभी तक आपको रेलवे टिकट सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट या एप्स से मिलता है वो भी उपलब्धता के आधार पर। लेकिन अब नये एप्स से आपको कन्फर्म टिकट के चांसेज़ बढ़ जायेंगे। एप्स बनाने वाले रूणाल जाजू के मुताबिक टिकट बुकिंग के लिए हर रूट की ट्रैन में स्टेशन-वार कोटा निर्धारित होता है। यदि मुंबई से दिल्ली यात्रा का टिकट वेटिंग है तो आप थाणे या कल्याण का विकल्प देखेंगे तो आपको कन्फर्म टिकट मिल सकता है। ये एप्स आपको उन स्टेशंस के विकल्प उपलब्ध करायेगा जहां से आपको आपके रूट पर स्टेशन से कन्फर्म टिकट मिल ...

उज्जैन.  उन्होंने कहा कि परंपराएं तो रह जाती हैं, लेकिन प्राण छूट जाता है। परंपराएं पूरे प्राण के साथ कायम रहनी चाहिए। कर्म ही हमारा योग है। आतंकवाद और ग्लोबल वॉर्मिंग से निपटने में कुंभ दिशा देगा। हम हैं आत्मा के अमरत्व से जुड़े हुए लोग ।

  • मोदी बोले- “कुंभ का मेला वैसे 12 साल में एक बार होता है। कहीं-कहीं तीन साल में होता है।
  • इस समारोह की विशेषता है कि यहां श्रीलंका के राष्ट्रपति भी हैं और विपक्ष के नेता भी मौजूद हैं।
  • हम लोगों का स्वभाव दोष है कि हम अपने आप को हमेशा परिस्थितियों से परे समझते हैं। हम आत्मा के अमरत्व से जुड़े हुए लोग हैं। इस कारण हमारी सोच न हमें काल से बांधती हैं और न ही डराती है ।
  • कुंभ की परंपरा कैसे प्रारंभ हुई होगी, इस बारे में अलग-अलग मत प्रचलित हैं, लेकिन इतना निश्चित है कि ये परंपरा मानव जीवन की सांस्कृतिक यात्रा की पुरातन व्यवस्था में से एक है। इसे देखें तो लगता है कि यह भारत को समेटने का प्रयास है।
  • मैं तर्क और अनुमान से कह सकता हूं कि इसकी शुरुआ...

दक्षिण भारतीय फिल्मों के महानायक रजनीकांत और बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर धूम मचाने के लिये तैयार हैं। फिल्म इंडस्ट्री में इन दिनों दो ही फिल्मों की चर्चा हो रही है। पहली सलमान खान की ‘सुल्तान’ और दूसरी रजनीकांत की ‘कबाली’। इन दोनों फिल्मों को लेकर सम्पूर्ण भारतीय बॉक्स ऑफिस आशान्वित है। उम्मीद की जा रही है कि यह दो फिल्में बॉक्स ऑफिस पर 600 करोड़ का व्यापार करने में कामयाब होंगी। सलमान खान की ‘सुल्तान’ के लिए कहा जा रहा है कि यह सम्पूर्ण भारत में 300 करोड़ का व्यापार करने में कामयाब होगी, वहीं दूसरी तरफ रजनीकांत की ‘कबाली’ अकेले दक्षिण भारत में ही 300 करोड़ का कारोबार करने में कामयाब होगी ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है। इसके बाद नम्बर आता है हिन्दी बेल्ट का जहां यदि ‘कबाली’ का डब वर्जन प्रदर्शित किया जाता है तो उम्मीद है कम से कम 70 करोड़ का व्यापार यहां होगा। इस तरह से ‘कबाली’ ‘सुल्तान’ से आगे रहेगी। अब यह तो वक्त बताएगा कि दोनों ने कितना कमाया लेकिन फिलहाल इन दोनों सितारों का ...

मथुरा  विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने शनिवार को यहां दावा किया कि राम मंदिर निर्माण का निर्णय एक सप्ताह में लिया जा सकता है। यह पूछे जाने पर कि केन्द्र सरकार के उदासीन रवैये को देखते हुए क्या विहिप राम मंदिर मामले में कदम उठाएगी, तोगड़िया ने कहा, करेंगे। वह यहां वृन्दावन के परिक्रमा मार्ग स्थित धाम में विहिप के प्रचार-प्रसार विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला में भाग लेने के लिए आए थे।
संवाददाताओं से वार्ता में उन्होंने भाजपा के एजेंडे में संवैधानिक तरीके से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण किए जाने के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मंदिर निर्माण के लिए केवल एक सप्ताह का ही समय चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘आप जानना चाहेंगे, कैसे? सीधा सा रास्ता है यह निर्णय संसद में कानून बनाकर किया जा सकता है। इसके लिए सरकार को सिर्फ एक घण्टे का समय चाहिए।...